सांसद मेनका गांधी के ड्रीम प्रोजेक्ट का हाल हुआ बेहाल।।

 सुल्तानपुर न्यूज़ _


1_सांसद मेनका गांधी के ड्रीम प्रोजेक्ट की शुरुआती हकीकत 


2_रात की बनी सड़क, सुबह होते ही हुई ध्वस्त


3_बंदरबांट और भ्रष्टाचार के बाद गुणवत्ता युक्त सड़क निर्माण का मंसूबा हुआ धराशाही


3_योगी सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति पर पलीता लगाता पीडब्ल्यूडी विभाग


4_बार-बार सड़क निर्माण कार्य करा कर,सरकारी धन का किया जा रहा है दुरुपयोग।।


5_डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का गड्ढा मुक्त अभियान का जिम्मेदार अधिकारी कर रहे फेल 




गौरतलब है कि मेनका गांधी के संसदीय क्षेत्र सुल्तानपुर शहर में उनके ड्रीम प्रोजेक्ट में शहर के सौंदर्यीकरण व मार्ग चौड़ीकरण द्वारा नगर को जाम की समस्या से मुक्त कराने के मंसूबे पर कहीं ना कहीं जिम्मेदार अधिकारी बंदरबांट करते हुए भ्रष्टाचार की एक नई इबारत लिख रहे हैं, हाल यह है कि विकास के नाम पर शहर में करोड़ों के प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है,इस चौड़ीकरण हेतु बन रहे मार्ग तो रात को बनके तैयार तो होते हैं परंतु सुबह होते होते ध्वस्त हो कर रह जा रहे हैं,आखिर इसका जिम्मेदार कौन है..! भ्रष्टाचार और बंदरबांट में कहीं ना कहीं संबंधित अधिकारी सांसद मेनका गांधी के ड्रीम प्रोजेक्ट पर पलीता लगाने में कोई भी कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं।जब इस मामले में मीडिया द्वारा सवाल पूछने पर जिलाधिकारी रवीश कुमार गुप्ता ने साफ-साफ कहा कि जिस भी कार्यदाही संस्था द्वारा कोई भी निर्माण कराया जा रहा होगा कितनी बार सड़क क्षतिग्रस्त होगी उतनी बार दोबारा सड़क बनानी पड़ेगी, तब तक इसका भुगतान नहीं किया जाएगा। अब देखने वाली बात होगी कि जिला अधिकारी द्वारा मामले में संज्ञान लेते हुए जिम्मेदार  लोगो पर क्या कार्रवाई की जाएगी और कहां तक पीडब्ल्यूडी विभाग में बड़े पैमाने पर हो रही कमीशन खोरी,भ्रष्टाचार और बंदरबांट पर अंकुश लग पाएगा।


विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads