सुल्तानपुर में अंतरराष्ट्रीय कथावाचक शान्तनु महाराज बोले- 22 जनवरी को मनाइए घर-घर दीपावली।।

सुल्तानपुर में अंतरराष्ट्रीय कथावाचक शान्तनु महाराज बोले- 22 जनवरी को मनाइए घर-घर दीपावली।


बर्बरताओं से तोड़े गए थे 5 हजार मंदिर, काशी-मथुरा के साथ उन्हें करेंगे पुनः स्थापित।।

अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक शांतनु महाराज 

अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक शांतनु महाराज ने सुल्तानपुर की धरती से 22 जनवरी को अयोध्या में दीप प्रज्वलन के साथ घर-घर दीपावली मनाने का आवाहन किया। उन्होंने कहा कि यह दीप दीपावली वास्तविक दीपावली त्यौहार से बड़ी होनी चाहिए। तीन दिवसीय राम कथा अयोध्या के दीप महोत्सव के प्रारंभिक चरण के रूप में आयोजित की गई है। 
श्री राम कथा में उमड़ी श्रोताओं की भीड़ 

उन्होंने ये भी कहा निश्चित रूप से हम सब लोगों को 22 जनवरी को ही अबकी दीवाली मनानी है। दिन में 11 से 12 मंदिर केंद्रित कार्यक्रम करना है, अपने मंदिर में गांव के हिंदू समाज एकत्रित होकर भजन-कीर्तन और आरती करे। सांयकाल दीप अपने घरों पर जलाकर प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव मनाए। उन्होंने आगे कहा क्योंकि भगवान राम भव्य मंदिर में विराजमान होने जा रहे हैं, भगवान अपने मंदिर में आवें कैसे हम उनका स्वागत कर सकते हैं उसके लिए ये पर्व आयोजित किया गया है। इस अवसर पर अंतरराष्ट्रीय कथावाचक शांतनु महाराज का श्री विश्वनाथ ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट कला के कुलानुशासक डॉक्टर वेद प्रकाश सिंह ने शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया और उनका स्वागत अभिनंदन किया।

इस देश में बर्बरताओं के द्वारा 5 हजार से अधिक मंदिर तोड़े गए। राम मंदिर के अब काशी-मथुरा के साथ उन मंदिरों को पुनः स्थापित कराएंगे। शान्तनु महाराज ने कांग्रेस व सपा पर तंज कसते हुए कहा कि 500 वर्षों का संघर्ष किया, बड़े कटाक्ष सहा, बड़े ताने सहे कि मंदिर बनाएंगे लेकिन तारीख नहीं बताएंगे। उन्होंने कहा अब तारीख बता रहे हैं 22 जनवरी। शान्तनु महाराज ने कहा वैसे ही काशी का हम करेंगे, मथुता का करेंगे। केवल काशी-मथुरा ही नहीं बर्बरताओं के द्वारा 5 हजार से अधिक मंदिर तोड़े गए, हिंदू समाज जागृत हो रहा है पुनः अपनी शक्ति के साथ उन मंदिरों को पुनः स्थापित कराने का प्रयत्न करेंगे।

 शांतनु महाराज अंतरराष्ट्रीय कथावाचक

विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads