सुल्तानपुर शहर के लोगों को 5 महीने बाद मिली राहत।।

सुल्तानपुर शहर के लोगों को 5 महीने बाद मिली राहत: गोलाघाट-पयागीपुर मार्ग पर शुरू हुआ गोपालदास पुल, गुजरे हल्के वाहन, मई से होगा स्थायी आवागमन 

सुल्तानपुर में पांच माह से हर दिन जाम से जूझ रहे नगर के लोगों के लिए राहत भरी खबर है। गोलाघाट-पयागीपुर मार्ग पर जर्जर गोपालदास पुल का कार्य पूरा हो गया है। इस पर पैदल, बाइक व हल्के वाहन गुजरने लगे हैं। पूर्ण रूप से मई से इस पर हर तरह के वाहन फर्राटा भर सकेंगे।

19 अगस्त से बंद था मेन रूट 

बताते चलें कि पीडब्ल्यूडी ने 19 अगस्त 2023 को गोलाघाट-पयागीपुर मार्ग पर विकास भवन से बस स्टेशन को जाने वाली सड़क पर जर्जर गोपालदास पुल को तोड़कर नया फोरलेन पुल निर्माण करने के इस पर आवागमन बंद करा दिया था। इससे शहर में जाम की समस्या खड़ी हो गई। जिला प्रशासन ने जाम से निपटने के लिए काफी जतन किए प्रशासन का लेकिन कोई कदम कारगर नहीं हुआ। शहर के दीवानी तिराहा, बस स्टेशन-अमहट, गंदानाला, चौक मार्ग पर जाम की समस्या से लोग हर दिन जूझते देखे गए।

सांसद व प्रभारी मंत्री की फटकार के बाद आई थी काम में तेजी 

आधिकारिक तौर पर कहा गया था कि अक्टूबर 2023 में गोपालदास पुल बनकर तैयार हो जाएगा लेकिन कार्यदायी संस्था ने निर्माण कार्य में देरी की। इस पर सुल्तानपुर की सांसद मेनका गांधी और दिसंबर माह में प्रभारी मंत्री आशीष पटेल ने मौके का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को तो काम में तेजी आई। पीडब्ल्यूडी ने 15 जनवरी को पुल को अस्थायी तौर पर शुरू कराने का दावा किया था। बीते कई दिनों से यहां युद्ध स्तर पर काम चला और शनिवार शाम से यहां पैदल व बाइक से लोगों का आवागमन शुरू हो गया।

इन कामों को पूरा होने में लगेगा समय 

अभी यहां मिट्टी बैठने के बाद दोनों तरफ की दीवार व मुख्य स्लैब के बीच दो-दो लेन पर बारी-बारी से छत डाली जाएगी। इसमें करीब तीन माह का समय लगने के आसार हैं। इस बाबत लोकनिर्माण विभाग के अवर अभियंता सीडी मिश्रा ने बताया कि
गोपालदास पुल पर मई में स्थायी रूप से आवागमन शुरू हो सकेगा। अस्थायी तौर पर 15 जनवरी से यातायात बहाल कर दिया जाएगा।

विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads