पसमांदा मुस्लिम हूं, गरीब परिवार में पैदा हुआ शायद यही मेरी बदनसीबी है.. अफजल अंसारी

पसमांदा मुस्लिम हूं, गरीब परिवार में पैदा हुआ शायद यही मेरी बदनसीबी है.. अफजल अंसारी

सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ अफजल अंसारी 

समाजवादी पार्टी में पिछले कुछ दिनों से एक ऑडियो ने हलचल मचा रखी है,इस ऑडियो की चर्चा जोरों पर है, ऑडियो ने पूरे सपाई खेमे की नीद ही उड़ा डाली, चाहे वह पुराने सपा के सिपाही रहे हो या फिर नए नवेले नेता जी। ऑडियो के वायरल होते ही कई बड़े बड़े दिग्गज नेताओं ने पार्टी की फजीहत और अपनी किरकिरी से बचने के लिए दनादन पार्टी कार्यालय पर एक बैठक बुलाई और बड़ी कार्यवाही कर डाली।

साइकिल रैली निकालते अफजल अंसारी 

विरोध प्रदर्शन करते अफजल अंसारी 

जनसंपर्क करते हुए अफजल अंसारी 

दरअसल पूरा मामला है सुल्तानपुर शहर के एक ऐसे नेता की जिसने पार्टी हित में कार्य करते हुए कई बार लाठियां खाई,सड़क पर उतर कर संघर्ष किया,उसके ऊपर कई मुकदमे दर्ज़ हुए, आज उसके लिए पार्टी में कोई जगह नही..? पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता वा पार्टी की गोपनीयता भंग करने के चलते उसे पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित करते हुए बाहर का रास्ता दिखा दिया गया आखिर क्यों..? ये दर्द है एक ऐसे सपाई नेता अफजल अंसारी की जिसने मुलायम सिंह यादव की विचार धारा पर चलते हुए समाजवादी पार्टी हित के लिए अपनी पूरी उम्र लगा डाली, अपने लंबे राजनीतिक सफर में अफजाल अंसारी तीन बार सपा के जिला उपाध्यक्ष रहे , कई विधानसभा के प्रभारी रहते हुए सपा विधायक की जीत में अहम भूमिका भी निभाई, साथ ही साथ अफजाल अंसारी अपनी सामाजिक,व्यावहारिक वा साफ सुथरी छवि के चलते ही लगभग 20 सालों से नगर पालिका मेंबर का प्रतिनिधित्व अपनी ईमानदारी और कड़ी परिश्रम के बल पर करते आ रहे हैं। आपको बताते चलें कि इस वायरल ऑडियो में अफजल अंसारी व सपा नेता अजय यादव द्वारा सपा महासचिव व नगर अध्यक्ष पर पैसा लेकर पद देने और मनमाने ढंग से नई कार्यकारिणी घोषित करने का आरोप लगाया गया हैं, जिस पर सुल्तानपुर सपा जिला अध्यक्ष समेत कई नेताओं ने नाराजगी जताते हुए पार्टी विरुद्ध गतिविधियों  में संलिप्तता व भाजपा अल्पसंख्यक मंत्री दानिश आजाद अंसारी के साथ वायरल फोटो को मुद्दा बनाते हुए उन्हें 6 साल के लिए पार्टी से निस्कासित कर दिया।जबकि सूत्रों की माने तो अफजल अंसारी गैर राजनीतिक संगठन "राष्ट्रीय अंसारी संगठन" के उत्तर प्रदेश प्रभारी है, पिछले दिनों राजधानी लखनऊ में एक पसमांदा मुस्लिम समाज की मीटिंग बुलाई गई थी जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में भाजपाअल्प संख्यक मंत्री दानिश आजाद अंसारी पहुंचे थे, इसी कार्यक्रम में राष्ट्रीय अंसारी संगठन द्वारा उनका स्वागत वा सम्मान किया गया था। अफजाल अंसारी ने बताया कि इसी कार्यक्रम की फोटो को वायरल कर पार्टी विरोधी बताते हुए महासचिव ने मेरे खिलाफ साजिश रची है। उन्होंने कहा की लेकिन सच्चाई कभी छुप नहीं सकती, सच की हमेशा जीत होती है, मैने हमेशा रेड़ी, पटरी, गुमटी, रिक्शा वा ठेले वाले,गरीब,मजदूरों के हितों की आवाज़ उठाता रहा हूं और हमेशा उनकी आवाज बनकर बोलता रहूंगा, उन्होंने कहा कि मैंने महासचिव के पद के लिए दावेदारी की थी जिसकी वजह से मेरे साथ राजनीति द्वेष की भावना में साजिश रची गई और मैं इस साजिश का शिकार हो गया,फिलहाल अफजल अंसारी ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की है उन्होंने बात रखने का मौका दिया है,जल्द ही मुलाकात करके उनके सामने सारी बातें रखूंगा और उन्हें उम्मीद है की राष्ट्रीय अध्यक्ष जरूर इस पर संज्ञान लेंगे और पार्टी हित में उचित निर्णय लेंगे,जिससे भविष्य में किसी भी कार्यकर्ता और पदाधिकारी के साथ इस तरह की राजनीति न हो।

समर्थकों के बीच अफजाल अंसारी 


विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads