जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान सुल्तानपुर में चल रहा तीन दिवसीय राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 संबंधी अभिमुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ समापन।

जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान सुल्तानपुर में चल रहा तीन दिवसीय राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 संबंधी अभिमुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ समापन। 


उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद, उत्तर प्रदेश, लखनऊ के आदेश के क्रम में माध्यमिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों हेतु आयोजित किया गया। प्रशिक्षण के दौरान राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 से संबंधित विभिन्न जानकारियां अध्यापकों से साझा की गई। 


इसमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति का संक्षिप्त परिचय (माध्यमिक शिक्षा के परिपेक्ष में) तथा राष्ट्रीय पाठ्यचर्या फ्रेमवर्क 2023 का परिचय कराया गया। प्रशिक्षण में पाठ्यचर्या पर चर्चा हुई तथा भारतीय ज्ञान प्रणाली के बारे में विस्तार से बताया गया। इसमें आधुनिक समय में शिक्षा में प्रौद्योगिकी व आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के महत्व से परिचित कराया गया तथा साइबर सुरक्षा की जानकारी भी दी गई। 

शारीरिक शिक्षा एवं कल्याण, समावेशी शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा, संप्रेषण कौशल एवं व्यवहार तथा मूल्यांकन व आकलन पर भी विशेष चर्चा की गई। गत दिनों हुए विभिन्न सर्वेक्षण पर चर्चा हुई तथा असर सर्वे पर भी प्रशिक्षण के दौरान चर्चा की गई। सह जिला विद्यालय निरीक्षक जटा शंकर यादव ने उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि अध्यापक का संस्कारी बना तथा अच्छे से प्रशिक्षित होना अनिवार्य है, क्योंकि विश्व गुरु बनने की चाहत श्रेष्ठ तथा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के द्वारा ही संभव हो सकती है। उन्होंने कहा कि हमें मात्रात्मक की जगह गुणात्मक शिक्षा पर ध्यान देना होगा तथा निरंतर आगे बढ़ते रहने के लिए प्रोत्साहित रहना होगा। 


प्रशिक्षण के नोडल शैलेंद्र चतुर्वेदी ने बताया कि प्रत्येक स्तर पर नवीनीकरण की आवश्यकता महसूस होती है। इस प्रकार की राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 भी आजकल के परिपेक्ष में बिल्कुल उचित तथा आने वाले समय में टीएलएम, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तथा शैक्षिक तकनीक से अध्यापक तथा शिक्षार्थियों का परिचित होना बहुत जरूरी है। मास्टर ट्रेनर श्री विजय कुमार, शैलेंद्र चतुर्वेदी तथा रामकृष्ण मिश्र द्वारा प्रशिक्षण से संबंधित विभिन्न व्यापक जानकारियां दी गई। 


प्रशिक्षण में प्रेरणा गीत व खेल विजेता कौन, मैं सबसे आगे, आम–केला–अमरूद तथा पोस्टर निर्माण जैसी विभिन्न सामूहिक गतिविधियां की कराई गई। इस प्रशिक्षण सत्र में डाइट से हरि ओम, सुनील बरनवाल, शरद चतुर्वेदी, मनीष तिवारी आदि ने संयोजन में योगदान दिया। प्रशिक्षणार्थियों में प्रधानाचार्य केश कुमारी राजकीय बालिका इंटर कॉलेज पल्लवी सिंह तथा  प्रधानाचार्य पं. दीनदयाल उपाध्याय मॉडल स्कूल तेंदुआ काजी मोहम्मद रफीक के अतिरिक्त प्रधानाचार्य राजकीय हाई स्कूल केनौरा विजय प्रकाश मौर्य, प्रवक्ता रीना केसरवानी, सरिता, स्कंद प्रताप सिंह, खुशबू मौर्या, शालिनी सिंह, सुनीता देवी सरोज, संदीप कुमार, सुनील कुमार, रवि कुमार, कमलाकर दूबे, मंजू सोनी, विकास तथा रोहित आदि 50 से अधिक प्रतिभागी सम्मिलित हुए।

रिपोर्ट/सरफराज अहमद

विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads