लंभुआ नगर पंचायत अध्यक्ष के विरोध में लामबंद हुए सभासद।

लंभुआ नगर पंचायत अध्यक्ष के विरोध में लामबंद हुए सभासद।

विरोध हुआ शुरू: बैठक में नहीं पहुंचे सभासद, नहीं पास हो सका बजट।

सुल्तानपुर के लंभुआ में भाजपा के पाले में जा चुके नगर पंचायत अध्यक्ष का विरोध शूरू हो गया। उनका ये विरोध सभासदों द्वारा ही किया जा रहा है। यहां नगर पंचायत में बजट के लिए बुलाई गई बैठक का सभासदों ने बहिष्कार कर दिया तो बैठक निरस्त करना पड़ गई है। आरोप है कि बगैर सभासदों के राय मशवरा के अध्यक्ष विकास कार्य करा रहे हैं। वे स्वयं व अपने लोगों को काम दे रहे। इस सबको लेकर सभासदों में नाराजगी है। 

केवल चार सभासद बोर्ड बैठक में हुए सम्मिलित।

नगर पंचायत में सभाकक्ष में बोर्ड की बैठक बुलाई गई थी। इसमें वार्षिक विकास कार्यों का लेखा जोखा तैयार करने के साथ बजट को भी मंजूरी मिलनी थी। 15 सदस्यीय बोर्ड में बैठक का कोरम पूरा करने के लिए न्यूनतम 5 सदस्यों की जरूरत थी। लेकिन बैठक में केवल वार्ड चार सभासद ही पहुंचे थे। बताया का रहा है इनमें वार्ड 1, वार्ड 4, वार्ड 5 और 10 के ही सभासद पहुंचे। काफी देर तक टकटकी लगाकर इंतजार के बाद अधिशासी अधिकारी ने बैठक निरस्त कर दी। अधिशाषी अधिकारी अमित कुमार सिंह ने बताया कि चार सभासद आए थे। बैठक का कोरम पूरा नहीं हो पाने के कारण कोई भी प्रस्ताव पारित नहीं किया जा सका।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ पत्र 


वही सोशल मीडिया पर एक पत्र भी सभासदों का एक भी वायरल हो रहा है जो नगर पंचायत अध्यक्ष के विरोध में देखा जा रहा है। वही कृष्णानगर सभासद राजेंद्र यादव कुछ देर के लिए नगर पंचायत पहुंचे थे लेकिन उन्होंने बैठक में हिस्सा नहीं लिया। उन्होंने ये अवश्य बताया कि कुछ विशेष प्रकरण पर वार्ता के लिए आए हुए थे। उन्होंने किसी रजिस्टर या अभिलेख पर हस्ताक्षर नहीं किए।


नहीं है कोई विरोध: पंचायत अध्यक्ष लंभुआ।


उधर जब नगर पंचायत अध्यक्ष अवनीश कुमार सिंह अंगद से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा हमारे कुछ सभासद इधर उधर कार्यों में व्यस्त थे वे आ नहीं सके। इसलिए बैठक निरस्त करना पड़ा। बाक़ी कोई विरोध या मनमुटाव नहीं है। एक दो जो हैं उन्हें मना लिया जाएगा।

रिपोर्ट/सरफराज अहमद

विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads