बाहुबली पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सपा में हुए शामिल, सारे कयासों पर लगा विराम।

बाहुबली पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह ने ज्वाइन की समाजवादी पार्टी,सारे कयासों पर लगा विराम।


2019 के लोकसभा में दी थी मेनका गांधी को कड़ी टक्कर, भाजपा की मुश्किलें अब और बढ़ी 
सुल्तानपुर में चुनाव से ठीक पहले भाजपा प्रत्याशी की मुश्किलें बेहद बढ़ गई हैं। बाहुबली पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सोनू सिंह ने सपा ज्वाइन कर ली है। समाजवादी पार्टी के ट्वीटर हैंडल से अखिलेश यादव को बुके देते हुए की उनकी एक फोटो शेयर की गई है। बता दें कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ते हुए भाजपा की मेनका गांधी को कड़ी टक्कर दी थी। अंत में वो 14 हजार से चुनाव लूज़ कर गए थे।आपको बता दें कि धनपतगंज ब्लॉक के मायंग निवासी चंद्रभद्र सिंह उर्फ सोनू सिंह ने पुराने घर में वापसी कर ली है। वर्ष 2002 में उन्होंने सपा के टिकट पर इसौली सीट से पहली बार जीत दर्जकर विधानसभा में कदम रखा। 2007 में भी वे सपा से जीते लेकिन अंत में 2009 में उन्होंने सपा को अलविदा कहकर बसपा का दामन थामा। इसी वर्ष उप चुनाव हुआ उन्होंने बसपा से रिकार्ड जीत दर्ज कराया। लेकिन 2012 में वो पीस पार्टी में चले गए। इस वर्ष उन्होंने सुल्तानपुर और उनके अनुज यशभद्र सिंह मोनू ने इसौली से चुनाव लड़ा। दोनों हारे जरूर लेकिन भाजपा और बसपा की जीत में रोड़ा बन गए। 

इसके बाद 2014 के लोकसभा चुनाव के समय उन्होंने भाजपा ज्वाइन किया। वरुण गांधी की जीत में दोनों भाइयों का बड़ा योगदान रहा। लेकिन 2017 आते आते दोनों से वरुण ने किनारा कर लिया। 2017 में मोनू ने इसौली से लोकदल के बैनर तले चुनाव लड़ा और हार गए। इसके बाद 2019 में चंद्रभद्र सिंह बसपा के टिकट पर मेनका गांधी के मुकाबले पर उतरे। पराजित अवश्य हुए लेकिन मेनका गांधी को कड़ी टक्कर दिया। यही वजह रही कि मेनका ने सांसद रहते हुए पांच साल दोनों भाइयों का जमकर विरोध किया। लेकिन अब उनकी सपा में इंट्री पहले से चुनाव लूज़ कर रही भाजपा के लिए और मुश्किल खड़ी कर गई है।

रिपोर्ट/सरफराज अहमद

विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads