सुल्तानपुर जेल में संदिग्ध परिस्थितयों में हिस्ट्रीशीटर की हुई मौत।

सुल्तानपुर जेल में संदिग्ध परिस्थितयों में हिस्ट्रीशीटर की हुई मौत।





नौ केस थे दर्ज, भाई बोला-4 दिन पहले मिलकर हूं आया वो एकदम थे स्वस्थ्य।


जिला कारागार में सोमवार को एक हिस्ट्रीशीटर की संदिग्ध परिस्थितयों में मौत हो गई। सूत्रों के अनुसार बुखार होने पर बंदी को राजकीय मेडिकल कॉलेज ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित किया है। शव को पीएम में भेजकर पुलिस ने परिवार को सूचना दी है। मृतक पर नौ केस मोतिगरपुर थाने में दर्ज हैं।

मोतिगरपुर के बढ़ौनाडीह (भटपुरवा) का निवासी है मृतक कैदी 


मोतिगरपुर थानाक्षेत्र के बढ़ौनाडीह (भटपुरवा) निवासी शुभम वर्मा (28) पुत्र छोटेलाल वर्मा मारपीट के एक मामले में फरवरी माह से जेल में बंद चल रहा था। सोमवार को उसका स्वास्थ्य गड़बड़ हुआ। जेल प्रशासन उसे लेकर राजकीय मेडिकल कॉलेज पहुंचा जहां उसकी मौत हो गई। 

डॉक्टर को दिखाने गई थी मां 

जेल प्रशासन ने मृतक की मां शोभावती को सूचना दी है। वो अपने छोटे पुत्र शिवम के साथ चिकित्सक को दिखाने गई हुई थी। सूचना पाते ही वो बदहवास हो गई और अस्पताल पहुंची है। मृतक का पिता सूरत में प्राइवेट गाड़ी चलाता है।


भाई ने लगाया जेल प्रशासन व विपक्षी पर आरोप!


मृतक के भाई शिवम वर्मा ने बताया कि 29 मई को हम भाई से मिलकर आए थे वो एकदम स्वस्थय थे। आज हमें जेल से फोन आया की उनकी तबियत खराब है जिला अस्पताल आइए। यहां पहुंचे तो सिपाही ने बताया कि उनकी मौत हो गई है। भाई ने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें (भाई) कुछ हुआ नहीं था। जेल प्रशासन विपक्षी से मिलकर ऐसा किया गया है।

सीएमएस डॉ. एसके गोयल ने बताया कि कैदी शुभम को जेल से ब्रॉड डेड लाया गया था। शव मर्च्युरि में रखाया गया है। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर डॉक्टरों का पैनल वीडियो ग्राफी के साथ पीएम करेगा।

रिपोर्ट/सरफराज अहमद

विज्ञापन

विज्ञापन के लिए 📞7007461767 पर संपर्क करें।Ads